Thursday, August 31st, 2017
Flash

अब बिना गारंटी के भी मिलेगा बैंक लोन




Business

बैंक में अभी तक कोई भी लोन लेने जाता है तो, उसे बैंक में दो गारंटर को साथ ले जाना होता है। इसके अलावा विविध प्रकार की फार्मेलिटी पूरी करनी होती है तब जाकर लोन मिलता है, लेकिन केंद्र सरकार ने छोटे-छोटे कारोबार कर्ताओं के लिए लोन प्रक्रिया आसान कर दी है। जी हां.. छोटे-छोटे कारोबार करने वालों को अपना धंधा बढ़ाने के लिए अब साहूकारों से कर्ज लेने की जरूरत नहीं होगी। क्योंकि अब बैंकों में 50 हजार तक लोन बिना किसी की गारंटी एवं बिना किसी की सिफारिश से आसानी से मिल जाएगा। इसके लिए आवेदनकर्ता को पेनकार्ड की भी जरूरत नहीं पड़ेगी। सरकार ने जिले में 2000 लोगों को लोन बांटने का लक्ष्य बैंकों को दिया गया है। हर बैंक की शाखा को 25-25 लोन बांटना जरूरी है।

 

Small-bus-loan-app

 

इतना ही नहीं जो बैंक लोन नहीं देगा, उस बैंक से सरकार लोन न देने का कारण भी पूछेगी। प्रत्येक जिले की किस-किस बैंक की शाखाओं ने कितने-कितने लोन जारी किए। इसकी रिपोर्ट सरकार एवं रिजर्व बैंक को भेजी जाएगी।

 

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना

केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री मुद्रा योजना लागू की है। इस योजना के तहत 50 हजार से 10 लाख तक का लोन दिया जाएगा। इस योजना के प्रथम चरण में सरकार का फोकस 50 हजार या इससे कम लोन देने पर रहेगा। इस योजना में 50 हजार तक लोन लेने के लिए किसी भी बैंक में कोई गारंटी नहीं देनी पड़ेगी।

 

दो आईडी प्रूफ से होगा काम

आवेदन करने वाले को केवल दो आईडी प्रूफ देने होंगे। इसके बाद आवेदनकर्ता को बैंक द्वारा लोन दे दिया जाएगा। इसके लिए जिले की सभी बैंकों की करीब 50 शाखाओं को सर्कुलर जारी कर दिया है। सरकार ने प्रत्येक बैंक की प्रत्येक शाखा को एक निश्चित अवधि तक 25-25 लोन जारी करने का लक्ष्य दिया है। इसकी सीधी रिपोर्ट सरकार एवं रिजर्व बैंक को भेजी जाएगी।

 

तीन तरह का लोन दिया जाएंगा

शिशु लोन : 50 हजार रुपए तक

तरुण लोन : 5 लाख रुपए तक

तरुण लोन : 5 से 10 लाख तक

 

पात्र व्यक्तियों को ही मिलेगा लाभ

बैंक द्वारा लोन उसी व्यक्ति को दिया जाएंगा जो नियमित रूप से कारोबार कर रहा है। उसकी जांच पड़ताल के बाद ही बैंक द्वारा लोन दिया जाएंगा। कारण इस योजना का केवल पात्र व्यक्तियों को ही लाभ मिले।

 

यह है योजना का उद्देश्य

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना का मुख्य उद्देश्य गरीब तबके के छोटे-छोटे कारोबार करने वालों का उत्थान करना है। 50 हजार रुपए तक का लोन देकर कारोबारी को सक्षम बनाया जाएगा। जब काम चलना शुरू हो जाएगा तो 5 से 10 लाख रुपए तक का लोन भी बिना गारंटी मिल सकेगा। इस योजना से पहले बैंकों से 50 हजार तक का लोन लेना भी बहुत मुश्किल होता था। कारण गारंटर नहीं मिलने पर लोन नहीं दिया जाता था। अब छोटे कारोबारकर्ताओं को इस समस्या से मुक्ति मिलेगी।

 

 

 

Sponsored



Follow Us

Yop Polls

तीन तलाक से सबसे ज़्यादा फायदा किसको?

Young Blogger

Dont miss

Loading…

Subscribe

यूथ से जुड़ी इंट्रेस्टिंग ख़बरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Subscribe

Categories