Sunday, August 6th, 2017
Flash

बच्चों की पढ़ाई के खर्च में भारत 13वें नंबर पर




Social

Teach-your-child-to-reading

आप अपने बच्चे की पढ़ाई पर हर दिन कितना खर्च करते होंगे। 10, 20, 50 , 100 । कहने को ये काफी कम है, लेकिन क्या आपको पता है कि इन छोटे-छोटे खर्च के चलते आप सालभर में अपने बच्चे की पढ़ाई पर कितना खर्च कर देते हैं। तो हम आपको बताते हैं कि आप सालभर में अपने बच्चे की पढ़ाई पर 12.25 लाख रूपया खर्च कर रहे हैं। चौकिए मत , यह राशि वैश्विक स्तर पर बच्चों की पढ़ाई पर खर्च होने वाली राशि से काफी कम है। जबकि विदेशों में बच्चों की शिक्षा पर पैरेंट्स 28.61 लाख रूपए खर्च कर रहे हैं। इसमें बच्चों की प्राइमरी एजुकेशन से लेकर ग्रेजुएशन तक के खर्च को शामिल किया गया है। यह खुलासा हाल  ही में जारी हुई एक रिपोर्ट में हुआ है।

इस रिपोर्ट के अनुसार भारत में पैरेंट्स अपने बच्चे की पढ़ाई  पर सालभर में 18,909 यूएस डॉलर खर्च कर देते हैं, जबकि औसतन दुनियाभर में 44.221 यूएस डॉलर खर्च किए जाते हैं। जो कि देखा जाए तो भारत की तुलना में बहुत ज्यादा है। हांगकांग में जहां पैरेंट्स अपने बच्चों पर 132161 डॉलर खर्च करते हैंवहीं संयुक्त अरब अमीरात में 99, 378 और सिंगापुर में 70,939 डॉलर अपने बच्चे की एज़ुकेशन पर खर्च कर देते हैं।

n-CHILDREN-PLAYING-628x314

सर्वे में ये देश हैं शामिल-

ये सर्वे दुनिया के ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, चीन, मिस्त्र हांगकांग, भारत, इंडोनेशिया, मलेशिया, ताइवान, सिंगापुर, मैक्सिको, यूके सहित 15 देशों में 8481 पैरेंट्स के बीच कराया गया था।

स्नातकोत्तर शिक्षा पर करते हैं विचार-

ये सही है कि भले ही आर्थिक स्थिति कैसी भी हो, लेकिन पैरेंट्स अपने बच्चों को पढ़ाने के लिए अपना सबकुछ दांव पर लगा देते हैं। आपको जानकर हैरत होगी कि भारत के 94 प्रतिशत पैरेंट्स आर्थिक हालातों से जूझते हुए अपने बच्चों की शिक्षा पूरी करा रहे हैं। जबकि वे बच्चों की स्नातकोत्तर शिक्षा के लिए विचार करते हैं। कई पैरेंट्स तो अपने बच्चे को अच्छी शिक्षा दिलाने के लिए अपने खर्च कम करने जैसा बलिदान कर रहे हैं। इस रिपोर्ट के अनुसार करीब एक तिहाई पैरेंट्स ने अपने बच्चों की पढ़ाई के लिए ऑफिस में एक्स्ट्रा टाइम भी काम किया है।

Sponsored



Follow Us

Young Blogger

Dont miss

Loading…

Subscribe

यूथ से जुड़ी इंट्रेस्टिंग ख़बरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Subscribe

Categories