Thursday, August 31st, 2017
Flash

5000 लोगों की ज़िन्दगी बदल चुकी है ये बच्ची, सीएम कर चुके हैं सम्मानित




Sponsored




कहते हैं बच्चे ईश्वर का रुप होते है तभी उनमें कोई छल कपट जैसे अवगुण नहीं होते हैं। ऐसी ही एक 12 साल कि बच्ची है इंदौर कि दिशा तिवारी जो अपने मिशन के जरिए हजारों लोगों की जिंदगी सवांर रही है। दादा जी की मौत की वजह जानकर इस छोटी सी बच्ची के दिमाग पर ऐसा प्रभाव पड़ेगा ये कोई नहीं जानता था। मां संगीता तिवारी ने जब बताया कि सिगरेट पीने से दादा जी मौत हुई तो ये जानकर दिशा को बहुत बुरा लगा। इसके बाद वो हमेशा सोचने लगी काश वो दादा जी को समझा पाती कि धूम्रपान न करें।

Disha Tiwari

इस घटना के बाद एक दिन दिशा ने रेस्तरां में एक व्यक्ति को सिगरेट पीते देख मम्मी से पूछा क्या मैं उन्हें मना करूं की सिगरेट न पीए। मम्मी के हां बोलने पर दिशा ने उन्हें मना किया उस व्यक्ति ने दिशा की बात मानी। इस तरह शुरु हुआ दिशा का धूम्रपान रोको अभियान। हाल ही में दिशा को उनके मिशन के लिए दिल्ली में सनी देओल ने अवॉर्ड दिया मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज ने भी दिशा को सम्मानित किया है। पिता अश्विनी तिवारी बेटी को प्रोत्साहित करते रहते हैं। न्यूथेन्स न्यूज से बातचीत में दिशा ने अपने अपने फ्यूचर प्लान के बारे में बताया.

disha tiwari 4

यूथेन्स . इस मिशन के बारे में आपने कैसे सोचा?
दिशा. दादा जी के बारे में जब भी सोचती थी तो बुरा लगता था उनकी याद में ही मेरा ये धूम्रपान छोड़ो अभियान शुरु हुआ है।

यूथेन्स . आप किस तरह लोगों को धूम्रपान छोड़ने के लिए जागरुक करती हैं?
दिशा. इसके काम के लिए कोई विशेष समय नहीं तय किया हैं, जब भी कोई कहीं धूम्रपान करते नजर आता है, मैं उन्हें समझाने चली जाती हूं।

यूथेन्स . क्या सिगरेट के आदी आपके समझाने पर नाराज नहीं होते हैं?
दिशा. हां, कई बार लोग नाराज भी हुए हैं पर मम्मी ने मुझे कहा कि हम गलत काम नहीं कर रहे हैं तो बिना डरे काम करों ।

यूथेन्स . इस काम को करते कितने साल हो गए हैं?
दिशा. इस मिशन को चलाते 6 साल हो गए हैं। 5 साल की उम्र से मैं इस मिशन को चला रही हूं।

यूथेन्स . आपके मिशन की खास बात क्या है?
दिशा. मैं उन लोगों के नाम डायरी में नोट कर लेती हूं जिन्हें मैं समझाती हूं फिर उनसे बात कर फीडबैक भी लेती हूं कि सिगरेट छोड़ने का वादा उनने पूरा किया है या नहीं।

यूथेन्स . आपकी डायरी में कितने लोगों के नाम है?
दिशा. अब तक करीब 5000 लोगों के नाम मेरी डायरी में है जिनमें से करीब 50 प्रतिशत लोगों ने धूम्रपान छोड़ने का वादा पूरा भी किया है।

यूथेन्स . फ्यूचर की क्या प्लानिंग है आपकी ?
दिशा . बड़े होकर मैं कुछ भी बनूं पर मेरा ये मिशन हमेशा चलता रहेगा।

यूथेन्स . आपका कोई सपना जो आप पूरा करना चाहती हैं?
दिशा. फिलहाल मैं इन्दौर शहर को धूम्रपान मुक्त करना चाहती हूं।

Sponsored



Follow Us

Yop Polls

तीन तलाक से सबसे ज़्यादा फायदा किसको?

Young Blogger

Dont miss

Loading…

Related Article

No Related News

Subscribe

यूथ से जुड़ी इंट्रेस्टिंग ख़बरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Subscribe

Categories