Friday, August 25th, 2017
Flash

भारत में पहली बार लांच हुई फिस्ट्रोलॉजी थैरेपी




Health & Food

12-download2_5

भारत में पहली बार फिस्ट्रोलॉजी थैरेपी लांच हुई है। वैदिक विज्ञान पर आधारित इस थैरेपी के जरिए बहुत सी गंभीर बीमारियों का इलाज संभव है। फिस्ट्रोलॉजी इस फैक्ट पर आधारित है कि मानव शरीर ब्रह्मांड के प्रभाव के अधीन है और ग्रहों की गति और मानव शरीर और मास्तिष्क का संबंध है। वैदिक ग्रेस फाउंडेशन ने फिस्ट्रोलॉजी एक वैदिक साइंस थैरेपी को पेश किया है। फिस्ट्रोलॉजी एक प्रमाणित वैदिक साइंस है जो हॉलैंड और आईडब्ल्यूओए जैसे देशों और संस्थाओं में उपयोग की जाती है।

फिस्ट्रोलॉजी के अनुसार मानव मास्तिष्क में नौ डिवीजन होते हैं और वे ज्योतिश में ग्रहों के समान कार्यक्षमता रखते हैं। थलमस एक न्यूरॉन है, जो मानव मास्तिष्क में मुख्य और मध्य स्थान में होता है। ये न्यूरोन ठीक सूर्य की तरह काम करता है।

किस ग्रह का क्या काम-

थैलेमस के नीचे हाइपोथैलेमस होता है, जो चंद्रमा की तरह काम करता है। यह इमोशंस और दिमाग पर इसके प्रभाव से जुड़ा होता है। अमिगडाला मंगल है जो जीवन में मानव गति को कंट्रोल करता है। सुब्थालमस बुध है, ग्लोबस पल्लीदुस बृहस्पति , सब्स्टान्सिया श़ुक्र है, प्यूटमेन शनि है, न्यूक्लियस क्यूडाटस हेड राहू है जो व्यक्ति की देखने की क्षमता यानि आंखों को कंट्रोल करता है और न्यूक्लियस क्यूडाट्स टेल केतू है, जो सेंट्रल नर्वस सिस्टम को कंट्रोल करता है।

विश्व भर में लोगों को गंभीर बीमारियों से निजात दिलाने वाले वैदिक ग्रेस फाउंडेशन के फिस्ट्रोलॉजिस्ट विनायक भट्ट बताते हैं कि इन 9 न्यूरोन्स के जरिए मानव मास्तिष्क पूरे शरीर को कंट्रोल करता है। जब बॉडी पाट्र्स के साथ न्यूरोन्स का कोऑर्डिनेशन बिगड़ जाता है तो कैंसर, हाई बीपी, हार्ट अटैक, किडनी रोग, अवसाद, अल्जाइमर, स्किजोफ्रेनिया जैसे रोग होते हैं।

यज्ञ के जरिए होता है ट्रीटमेंट

उन्होंने बताया कि इस ट्रीटमेंट के लिए यज्ञ के वैज्ञानिक प्रयोग का इस्तेमाल करते हैं। जिसमें औषधी लकडिय़ों की आग में  हर्बल पौधे डाले जाती हैं। एक विशेष आकार के हवन कुंड में एक निश्चित अंतराल और मात्रा में हवन सामग्री डालने से रसायनिक प्रक्रिया कंट्रोल रहती है। फिर रसायन के वाष्पीकरण के जरिए  औषधीय फाइटोकेमिकल निकलते हैं, जिससे रोगी को बहुत फायदा मिलता है।

Sponsored



Follow Us

Yop Polls

तीन तलाक से सबसे ज़्यादा फायदा किसको?

Young Blogger

Dont miss

Loading…

Subscribe

यूथ से जुड़ी इंट्रेस्टिंग ख़बरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Subscribe

Categories