Friday, October 20th, 2017 15:19:30
Flash

मोदी सरकार को झटका, इस मामले में चीन से पीछे रह गया भारत




मोदी सरकार को झटका, इस मामले में चीन से पीछे रह गया भारतBusiness

Sponsored




चीन भले ही एक ताकतवर देश हो, लेकिन ज्यादातर मामलों में भारत ने चीन को पछाड़ा है। आज भले ही भारत चीन से ज्यादा पॉवरफुल हो, लेकिन एक मामले में वह चीन से पीछे रह गया है। जी हां, ग्रोथ रेट के मामले में भारत चीन से पीछे रह गया है। भारत की ग्रोथ रेट 2017 के लिए घटाकर 6.7 फीसदी कर दी गई है। कई अन्य रेटिंग एजेंसियों के बाद आईएमएफ की तरफ से की गई कटौती मोदी सरकार के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं है। अंतराष्ट्र्रीय मुद्रा कोष ने जीएसटी और नोटबंदी को इसका बड़ा जिम्मेदार बताया है।


पिछले दो अनुमानों के मुकाबले भारत की ग्रोथ रेट अनुमान में 0.5 फीसदी की कटौती की गई है। इसके साथ ही भारत की ग्रोथ रेट अनुमान चीन के 2017 के लिए जताए गए अनुमान 6.8 फीसदी से कम हो गया है। वहीं आईएमएफ ने 2017 के लिए चीन की ग्रोथ रेट दर अनुमान को 0.1 फीसदी बढ़ाकर 6.8 फीसदी कर दिया है। दुनिया के देशों की ग्रोथ रेट की सूची को अगर देखें तो भारत इस कटौती के साथ चीन से पीछे हो गया है। इतना ही नहीं एजेंसी ने 2018 के लिए भारत की ग्रोथ रेट 0.3 फीसदी घटाकर 7.4 फीसदी कर दिया है।

वल्र्ड इकोनॉमिक आउटलुक की जारी हएक रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत की ग्रोथ की रफ्तार में कमी आई है। इस साल चीन की ग्रोथ रेट 6.5 फीसदी रहने का अनुमान जताया गया है।

आईएमएफ ने कहा कि 1999 से 2008 के बीच भारत की सालाना औसत ग्रोथ रेट 6.9 फीसदी थी जबकि 2009 में यह 8.9 फीसदी, 2010 में 10.3 फीसदी और 2011 में 6.6 फीसदी थी। वहीं 2012, 2013 और 2014 में यह ग्रोथ रेट क्रमश: 5.5 फीसदी, 6.4 फीसदी और 7.5 फीसदी थी। हालांकि 2015 में यह बढ़कर 8 फीसदी हो गई।  आईएमएफ ने 2022 के लिए भारत का ग्रोथ रेट अनुमान 8.2 फीसदी रखा है। एजेंसी ने 2017 के लिए 6.7 फीसदी और 2018 के लिए 7.4 फीसदी का अनुमान रखा था।

Sponsored





Follow Us

Yop Polls

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही जानकारी पर आपका क्या नज़रिया है?

Young Blogger

Dont miss

Loading…

Subscribe

यूथ से जुड़ी इंट्रेस्टिंग ख़बरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Subscribe

Categories