Friday, October 20th, 2017 15:42:09
Flash

अब तीन घंटे तक नहीं पिघलेगी आपकी आइस्क्रीम, जानिए कैसे




अब तीन घंटे तक नहीं पिघलेगी आपकी आइस्क्रीम, जानिए कैसेHealth & Food

Sponsored




आइसक्रीम किसे पसंद नहीं होती। हर कोई इसका दीवाना है और आजकल तो आइस्क्रीम में इतने फ्लवेर्स आ गई हैं, जिन्हें देखकर तो मुंह में पानी आना वाजिब है। लेकिन आइसक्रीम के साथ एक बड़ी समस्या ये होती है कि ये तुंरत पिघल जाती है। इसलिए इसे जल्दी-जल्दी खत्म करना होता है। कुल मिलाकर इसे देर तक नहीं रखा जा सकता , वरना ये पिघल जाएगी। लेकिन अब आप खुश हो सकते हैं और इस बात की चिंता करने की जरूरत भी आपको नहीं है। क्योंकि अब आपकी आइसक्रीम तीन घंटे तक नहीं पिघलेगी। इसलिए आप काफी देर तक अपनी आइसक्रीम का लुत्फ उठा सकते हैं।

 

दरअसल, वैज्ञानिकों ने एक नई टेक्नीक खोजी है, जिससे तीन घंटे तक आपकी आइसक्रीम पिघलेगी नहीं। जापान की कनाजावा यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों का दावा है कि उन्होंने आइसक्रीम के मेल्टिंग पॉइंट यानि पिघलने वाले टेम्प्रेचर को बढ़ाकर इसके शेप को बरकरार रखने का तरीका ढूंढ निकाला है।  अब तक होता ये है कि जैसे ही आइस्क्रीम को कंटेनर से निकाला जाता है, उसे कोन या कप में भर दिया जाता है। उसके बाद ही आइसक्रीम पिघलना शुरू कर देती है। जिस कारण लोगों को इसे जल्दी खाना पड़ता है। लेकिन हो सकता है कि ये शानदार तरीका आपकी आइसक्रीम को पिघलनाने से बचाएगा।

वैज्ञानिकों ने आइसक्रीम को स्ट्रॉबेरी से निकाले जाने वाले पॉलीफेनॉल तरल के साथ इंजेक्शन लगाया। कानजावा यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर टॉमहिसा ओटा ने कहा, ‘पॉलीफेनॉल लिक्विड में ऐसे गुण हैं जो कि पानी और तेल को पृथक करने में मुश्किल हैं।’ यह प्रोडक्ट बिना पिघले सामान्य तापमान पर तीन घंटे तक रह सकता है।

रिसर्चर्स ने आइसक्रीम पर एक हेअर ड्रायर का उपयोग करके पांच मिनट के लिए गर्म हवा देकर इसे टेस्ट किया लेकिन इसका शेप में कोई परिवर्तन नहीं हुआ। जिस आइसक्रीम में यह लिक्विड होता है ज्यादा समय तक अपने ओरिजनल शेप में रहती है और इसे पिघालना मुश्किल है। मौसम प्रतिरोधी यह आइसक्रीम अलग-अलग फ्लेवर में आती है जिसमें चॉकलेट, वनिला और स्ट्रॉबरी शामिल हैं।

Sponsored





Follow Us

Yop Polls

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही जानकारी पर आपका क्या नज़रिया है?

Young Blogger

Dont miss

Loading…

Subscribe

यूथ से जुड़ी इंट्रेस्टिंग ख़बरें पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Subscribe

Categories